Monday, March 26, 2012

जेड श्रेणी की सुरक्षा किन लोगों को दी जाती है?


सुरक्षाओं की कितनी श्रेणियाँ होती हैं? जेड श्रेणी की सुरक्षा किन लोगों को दी जाती है?

विनम्र गुप्ता.एमपी



भारत में एक्स, वाई, ज़ेड और ज़ेड+ सुरक्षा श्रेणियाँ होतीं हैं। एक्स में एक गार्ड होता है, वाई में दो, ज़ेड में 11 और ज़ेड+ में 36 गार्ड होते हैं। सुरक्षा देने के कारण व्यक्ति की महत्ता और उस पर आए खतरे पर निर्भर करते हैं। सचिन तेन्दुलकर को लश्करे तैयबा की धमकी के बाद उन्हें सुरक्षा दी गई। राजनेताओं से लेकर उद्योगपतियों, फिल्म कलाकारों, खिलाड़ियों और किसी भी क्षेत्र से जुड़े व्यक्ति को ज़रूरत पड़ने पर सुरक्षा दी जाती रही है।

हम साँस लेने में ऑक्सीजन लेते हैं और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं. यह कार्बन इस प्रक्रिया में कहाँ से बन जाता है?

परीक्षित परमार

इसका आसान जवाब यह है कि हम साँस से ऑक्सीजन लेते हैं, पर हम जो भोजन लेते हैं उसमें कई तरह के यौगिक होते हैं। इनमें कार्बन के यौगिक भी होते हैं। उनका उत्पाद पानी है और कार्बन डाईऑक्साइड भी जो अलग-अलग रास्तों से शरीर के बाहर आता है।

रेड कॉर्नर नोटिस का क्या मतलब है?

सिद्धि तिवारी, जयपुर

इंटरपोल नोटिस या इंटरनेशनल नोटिस इंटरपोल द्वारा सूचना के आदान-प्रदान की पद्धति है। इंटरपोल सात प्रकार के नोटिस जारी करता है इनमें छह अपने रंगों से पहचाने जाते हैं। ये रंग हैं लाल, नीला, हरा, पीला, काला और नारंगी। लाल नोटिस आमतौर पर अपराधी की गिरफ्तारी के लिए होता है। नीला नोटिस किसी व्यक्ति के बारे में अतिरिक्त सूचना देने या पाने के वास्ते, हरा ऐसे व्यक्तियों के बारे में चेतावनी जो अपराध कर चुके हैं, पीला गुमशुदा(आमतौर पर नाबालिगों) के बारे में सूचनाएं, काला किसी लाश की शिनाख्त न होने पर जारी होता है, नारंगी बमों, पार्सल बमों वगैरह की सूचनाएं। इसके अलावा इंटरपोल-संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद नोटिस उन व्यक्तियों और संस्थों को लेकर जारी होता है जिनपर सुरक्षा परिषद पाबंदियाँ लगाती है। .
राजस्थान पत्रिका के कॉलम नॉलेज कॉर्नर में प्रकाशित

Sunday, March 4, 2012

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर क्या होते हैं?


ओपन सोर्स सोफ्टवेयर क्या होते हैं? उनका क्या उपयोग है?
कमल प्रकाश, बीकानेर 




हिन्दी में वीडियो

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर का सीधा अर्थ है ऐसा सॉफ्टवेयर जो अपने सोर्स कोड के साथ उपलब्ध है। प्रायः सोर्स कोड कॉपीराइट से बँधा होता है। इस कारण उपभोक्ता उसमें बदलाव और अपनी ज़रूरत के अनुसार कतर-ब्यौंत नहीं कर सकता। इसके पीछे धारणा है कि दुनिया का ज्ञान सबको निःशुलक उपलब्ध हो। इसके अनेक अर्थ हैं। पर सबसे मोटा अर्थ है ऐसा सॉफ्टवेयर डिसे कॉपी किया जा सके और बदला भी जा सके।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एन सी आर ) का क्या मतलब है? राजस्थान का अलवर जिला दिल्ली से बाहर होने पर भी एन सी आर में कैसे आता है?
कैलाश पालीवाल, कानोड़

नेशनल कैपीटल रीजन यानी राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र। देश की राजधानी के आसपास का यह क्षेत्र हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में फैला है। इसका उद्देश्य है राष्ट्रीय राजधानी के चारों ओर का शहरी विकास। एनसीआर में स्थित सारा क्षेत्र दिल्ली में नहीं माना जाता। हर प्रदेश में ऐसे इलाके हैं जो एनसीआर में हैं, पर वे अपने राज्य का हिस्सा हैं। अलवर ही नहीं उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, नोएडा या हरियाणा के फरीदाबाद और गुड़गाँव दिल्ली से बाहर होते हुए भी एनसीआर में हैं। दिल्ली का अपना सीमा क्षेत्र अलग है जिसे नेशनल कैपीटल टेरीटरी कहते हैं। इसके बाहर है एनसीआर। एनसीआर को सन 1962 में औपचारिक रूप से नोटीफाई किया गया था।

 पासपोर्ट बनवाने के लिए पोलिस वेरीफीकेशन क्यों जरूरी होती है?
शिल्पी बंसल, जयपुर
पासपोर्ट व्यक्ति की पहचान का सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज है। वह सही व्यक्ति को मिले और उसका दुरुपयोग न हो इसके लिए पुलिस वैरी फिकेशन की ज़रूरत होती है।

राजस्थान पत्रिका के कॉलम नॉलेज कॉर्नर में प्रकाशित