Thursday, August 11, 2011

साँप-सीढ़ी का खेल भारतीय है


साँप-सीढ़ी के खेल की शुरुआत कहाँ हुई?

साँप-सीढ़ी का खेल भारत की ही देन है। पुराने ज़माने में इसे मोक्ष-पातम कहते थे। इसका रिश्ता सद्कर्म और पाप से था। इस खेल को अंग्रेज अपने देश में ले गए और उसे स्नेक एंड लैडर्स नाम दिया। वहाँ से यह अमेरिका गया जहाँ इसे शूट्स एंड लैडर्स नाम दिया गया।


क्या ब्रेन और माइंड अलग-अलग होते हैं?

मस्तिष्क शरीर का एक अंग है और मन एक अवधारणा। दिमाग और हृदय दिल शरीर के दो महत्वपूर्ण अंग हैं। कई बार हम इन्हें मन के केन्द्र मान लेते हैं। मन हमारी मनोदशा है, जो पूरे शरीर में है, किसी एक अंग में नहीं। हाँ विचार, तर्क, स्मृतियाँ, उल्लास, अवसाद आदि का असर मस्तिष्क पर भी होता है और मस्तिष्क इन्हें प्रभावित भी करता है।

स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में कितना हीमोग्लोबीन होना चाहिए?

पुरुष 13.8 to 18.0 g/dL, स्त्री  12.1 to 15.1 g/dl, बच्चे 11 to 16 g/dL, गर्भवती स्त्री 11 to 12 g/dL । ये स्वस्थ व्यक्ति के मानक हैं। इनमें देश-काल और उम्र के आधार पर कमी-बेशी हो सकती है। 

पॉलीथीन की शुरुआत कब और कैसे हुई?

पॉलीथायलीन या पॉलीथीन दुनिया का सबसे लोकप्रिय प्लास्टिक है। पॉलीथीन सबसे पहले जर्मन केमिस्ट हैंस वॉन पैचमान ने सन 1898 में अचानक खोज लिया था। उन्होंने प्र.ग करते वक्त सफेद रंग के मोम जैसे पदार्थ को बनते देखा और उसका नाम पॉलीथीन रखा। औद्योगिक रूप पॉलीथीन का आविष्कार 1933 में नॉर्थविच इंग्लैंड एरिक फॉसेट और रेगिनाल्ड गिबसन से एक एक्सीडेंट में हो गया। इस एक्सीडेंट रूपी प्रयोग को दुबारा करना मुश्किल था, पर 1935 में इसे भलीभांति कर लिया गया। दरअसल एथिलीन और बेंजलडिहाइड के मिश्रण पर बहुत भारी प्रेशर डालना था, जिससे यह पदार्थ बनता था। बहरहाल आज यह तकनीक सामान्य हो गई है।

हमारे कद के पीछे भी कोई जीन काम करती है क्या?

हमारी आँखों का रंग, बालों और शरीर का रंग, और तमाम बातें जीन के कारण हैं तो हाइट भी उसके कारण होगी, पर आज निश्चयपूर्वक नहीं कहा जा सकता कि कौन सा जीन इसके पीछे है। अलबत्ता सन 2007 में यूरोपीय वैज्ञानिकों ने 5000 लोगों के डीएनए का अध्ययन करने के बाद पाया कि HMGA2 नाम के जीन से हाइट का रिश्ता है। बहरहाल आज भी वैज्ञानिक मानते हैं कि हाइट के लिए करीब बीसेक जीन्स जिम्मेदार हैं।

सायलेंट वैली कहाँ है? इसका नाम सायलेंट वैली क्यों है?

सायलेंट वैली केरल की नीलगिरि पहाड़ियों में पलक्कड़ जिले का एक सुरक्षित वन क्षेत्र है। इस जंगल की विशेषता है कि यहाँ प्रकृति के साथ लगभग न के बराबर छेड़छाड़ की गई है। सन 70 के दशक में यहाँ एक पनबिजली योजना लाने की कोशिस की गई, पर जनता के विरोध के कारण उसे अनुमति नहीं मिली। इस जंगल को सन 1847 में एक ब्रिटिश वनस्पतिशास्त्री रॉबर्ट वाइट ने खोजा था। स्थानीय लोग इसे सैरन्ध्रीवनम कहते हैं। सैरन्ध्री द्रोपदी का नाम है। कहते हैं कि अज्ञातवास के दौरान पांडव यहाँ आकर भी रहे। इसे साइलेंट वैली कहने के पीछे सबसे बड़ी वजह यहाँ की अजब प्राकृतिक शांति है। शायद सैरन्ध्री शब्द को बोलने में अंग्रेजों को दिक्कत थी इसलिए उससे मिलता-जुलता नाम उन्हें यह मिला। 

स्वतंत्र भारत की पहली महिला मंत्री कौन थीं?

राजकुमारी अमृत कौर

किस राजा ने सबसे पहले लड़ाई में रॉकेटों का इस्तेमाल किया?

मैसूर के राजा टीपू सुल्तान ने पहली बार लड़ाई में रॉकेटों का इस्तेमाल किया। सन 1780 में अंग्रेजों और मैसूर के बीच दूसरे युद्ध में। इसे पोल्लिलूर का युद्ध कहते हैं।


मुहम्मद रफी और लता मंगेशकर की अनबन का कारण क्या था? अनबन दूर होने के फौरन बाद दोनों ने कौनसा गीत गाया?

साठ के दशक में दोनों के बीच अनबन मुख्यतः ईगो के कारण थी। बताते हैं कि संगीत की रॉयल्टी या फीस का विवाद भी था। बहरहाल लम्बे अर्से तक दोनों ने साथ-साथ नहीं गाया। 1967 में फिल्म ज्वैल थीम में दिल पुकारे आ रे आ रे के साथ दोनों ने फिर से युगल गीत गाने शुरू कर दिए।

फिल्म अभिनेता ओम प्रकाश ने क्या फिल्मों का निर्माण और निर्देशन भी किया?

ओम प्रकाश अपने किस्म के शानदार अभिनेता थे। उन्होंने कुछ फिल्में भी बनाईं जो चली नहीं। उनकी फिल्मों के नाम हैं, भैयाजी, गेटवे ऑफ इंडिया, कन्हैया, चाचा जिन्दाबाद, संजोग और जहांआरा।

2 comments:

  1. sashakt jankari upalabdh karane ke liye dhanyavad

    ReplyDelete
  2. स्वाधीनता दिवस की हार्दिक मंगलकामनाएं।

    ReplyDelete