Sunday, March 29, 2015

बच्चों में बड़ों की अपेक्षा अधिक हड्डियां क्यों होती हैं?


भारत में पहली मोबाइल कॉल कौन से सन में हुई तथा किस-किस शहर के बीच हुई?
भारत में मोबाइल फोन सेवा का गैर-व्यावसायिक तौर पर पहला प्रदर्शन 15 अगस्त 1995 को दिल्ली में किया गया। पर पहली कॉल उसके पहले 31 जुलाई 1995 को कोलकाता में पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने की जब मोदी टेलस्ट्रॉ मोबाइल नेट सेवा का प्रदर्शन और उद्घाटन किया गया।

सेंधा नमक फलाहारी माना जाता है इसलिए व्रत में खाया जाता है, जबकि सादा नमक या काला नमक फलाहारी नहीं माना जाता। ऐसा क्यों?
पुराने ज़माने में समुद्री नमक बोरों में भरकर और उसके क्रिस्टल रूप में बिकता था। शायद इस वज़ह से उसे उतना शुद्ध नहीं माना गया जितना सेंधा या लाहौरी नमक को माना जाता है। सेंधा नमक वस्तुत: नमक की चट्टान है, जिसे पीसकर पाउडर की शक्ल में बनाते हैं। काला नमक मसाले (मूलत: हरड़) मिलाकर बनाया जाता है, इसलिए उसे भी पूरी तरह शुद्ध नमक माना जा सकता।
मुक्केबाजी या कुश्ती में 51 किलोग्राम या 66 किलोग्राम वर्ग का क्या अर्थ होता है?
मुक्केबाज़ी, कुश्ती और जूडो, कराते और भारोत्तोलन जैसी प्रतियोगिताओं में खिलाड़ियों के शरीर का वज़न भी महत्वपूर्ण होता है। इसलिए इनमें खिलाड़ियों को अलग-अलग वज़न के आधार पर वर्गीकृत करते हैं। उदाहरण के लिए लंदन ओलिम्पिक की पुरुष वर्ग की बॉक्सिंग प्रतियोगिता में दस वर्ग इस प्रकार थे 1.लाइट फ्लाई वेट 49 किलोग्राम तक, 2.फ्लाईवेट 52 किलो तक, 3.बैंटमवेट 56 किलो, 4.लाइट वेट 60 किलो, 5.लाइट वेल्टर 64 किलो, 6.वेल्टर 69 किलो, 7.मिडिल 75 किलो, 8.लाइट हैवी 81 किलो, हैवी 91 और सुपर हैवी 91 किलो से ज्यादा। महिलाओं के वर्ग का वर्गीकरण दूसरा था। इसी तरह कुश्ती का वर्गीकरण महिला और पुरुष वर्ग में अलग-अलग था।
बिना पायलट के एयरक्राफ्ट को क्या कहते हैं?
बिना पायलट के विमान से आपका आशय अनमैन्ड एरियल ह्वीकल (यूएवी) से है, जिन्हें रिमोटली पायलटेड ह्वीकल भी कहते हैं। आजकल नेटो की सेनाओं द्वारा अफगानिस्तान में इस्तेमाल हो रहे ड्रोन भी इसी श्रेणी के विमान हैं। ये पूरी तरह विमान है। इनमें केवल पायलट नहीं होते और न यात्री होते हैं। इनका इस्तेमाल आमतौर पर युद्ध में होता है। बमबारी या टोही उड़ान के लिए ये खासे उपयुक्त होते हैं। इनमें लगे कैमरे तस्वीरें और वीडियो शूट करके लाते हैं। हालांकि प्रक्षेपास्त्र भी दूर नियंत्रित होते हैं, पर प्रक्षेपास्त्रों का दुबारा इस्तेमाल नहीं होता, जबकि ये विमान अपना मिशन पूरा करने के बाद लौट आते हैं और दुबारा इस्तेमाल में लाए जा सकते हैं। यात्री विमानों में अब ऑटो पायलट तकनीक या फ्लाई बाई वायर तकनीक का इस्तेमाल होने लगा है, पर उन्हें चालक रहित विमान नहीं कहा जा सकता। 
बच्चों में बड़ों की अपेक्षा अधिक हड्डियां क्यों होती हैं?
बच्चों के शरीर की तमाम हड्डियाँ उम्र बढ़ने के साथ एक-दूसरे से जुड़कर एक बन जाती हैं। आपने देखा होगा कि एकदम नन्हे बच्चों के सिर में मुलायम हिस्सा होता है। उस वक्त सिर की हड्डी कई भागों में होती है। बाद में वह एक बन जाती है।
राजस्थान पत्रिका के नॉलेज कॉर्नर में प्रकाशित 

No comments:

Post a Comment