Sunday, April 15, 2012

गाड़ी चलाने के लिए लाइसेंस की जरूरत क्यों होती है?


गाड़ी चलाने के लिए लाइसेंस की जरूरत क्यों होती है?
- विजय, जयपुर 

गाड़ी चलाना व्यक्तिगत कार्य लगता है, पर वस्तुतः यह एक सामूहिक क्रिया है। सड़क पर आप कुछ नियमों के अंतर्गत चलते हैं। उन नियमों को जानना ज़रूरी है। इसके अलावा शारीरिक विकलांगता भी नहीं होनी चाहिए। गाड़ी चलाना एक प्रकार की शासकीय अनुमति है। यह अनुमति ही लाइसेंस है। व्यक्ति का नियमों को जानना, शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना और अनुशासन में रहना लाइसेंस पाने की बुनियादी शर्त है। यह विशेषाधिकार है, जो सरकार आपको देती है।
साइंस ओलम्पियाड क्या होता है?
सीमा, पाली

साइंस ओलम्पियाड मूलतः एक अमेरिकी अवधारणा है। इसके अंतर्गत स्कूली शिक्षा के विभिन्न स्तरों पर छात्रों की प्रतियोगिता होती है। इसके अंतर्गत जीव विज्ञान, अंतरिक्ष विज्ञान और इंजीनियरी से जुड़े विषय होते हैं। इस प्रतियोगिता में अमेरिका के 49 राज्यों के छात्र भाग लेते हैं। 23 नवम्बर 1974 को पहला साइंस ओलम्पियाड हुआ था। आप सम्भवतः उस साइंस ओलम्पियाड के बारे में जानना चाहते हैं, जो भारत में सुनाई पड़ता है। अमेरिका के उपरोक्त ओलम्पियाड का भारत तथा कुछ अन्य देशों में होने वाले ओलम्पियाड से सम्बन्ध नहीं है।

साइंस ओलम्पियाड का आयोजन साइंस ओलम्पियाड फाउंडेशन नामक संस्था करती है। इसका उद्देश्य साइंस, कम्प्यूर साइंस, गणित और अंग्रेजी की शिक्षा को बढ़ावा देना है। इसके लिए भारत के अलावा सिंगापुर, ओमान, कतर, नेपाल, बहरीन, श्रीलंका, यूएई और डर्बन में हर साल चार ओलम्पियाड होते हैं, जिनके नाम हैं नेशनल सायबर ओलम्पियाड, नेशनल साइंस ओलम्पियाड, इंटरनेशनस मैथेमेटिक्स ओलम्पियाड और इंटरनेशनल इंग्लिश ओलम्पियाड। इसकी एक परीक्षा पद्धति है। इस संगठन के साथ विप्रो, रिलायंस, एलजी, आकाश स्टीट्यूट, विद्यालंकार ध्यानपीठ जैसी संस्थाएं भी जुड़ी हैं।

स्टाम्प पेपर क्या होता है? इस पर लिखा बयान इतना महत्वपूर्ण क्यों होता है?
- वेदप्रकाश तंवर

स्टाम्प पेपर आमतौर पर सरकारी शुल्क प्राप्त करने का तरीका है। तमाम तरह के समझौतों, सम्पत्ति की खरीद-फरोख्त, हलफनामों आदि के लिए शुल्क या कर की वसूली के लिए सरकार इन्हें जारी करती है। यह दुनिया भर में प्रचलित व्यवस्था है। अब नेट बैंकिंग और दूसरी तकनीक के विकास के बाद यह विचार किया जा रहा है कि स्टाम्प पेपर की व्यवस्था खत्म करके सीधे शुल्क ले लिया जाए।


राजस्थान पत्रिका के नॉलेज कॉर्नर में प्रकाशित

2 comments:

  1. I appreciate your hard work for posting knowledgeable articles.

    ReplyDelete
  2. bahut hi achchhi jankari di aapne. aisi hi jankari dete rhe. thank you.

    ReplyDelete