Friday, December 30, 2016

‘एंग्लो इंडियन’ कौन हैं?

एंग्लो इंडियन का मतलब है ऐसे लोग जिनके माता-पिता में से कोई एक भारतीय और यूरोपीय मूल का हो. 15 अगस्त 1947 को भारत से अंग्रेज विदा हो गए, पर लगभग 30,000 लोग ऐसे नहीं गए जो या तो यूरोपीय समुदाय से थे या यूरोपीय और भारतीय मूल के माता-पिताओं की संतान थे. भारत में रह गए अंग्रेजों को एंग्लो इंडियन कहा जाता है. पर एंग्लो इंडियन केवल भारत में ही नहीं रहते दुनिया के कई देशों में रहते हैं. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में काफी बड़ी संख्या में एंग्लो इंडियन हैं. इस एंग्लो में एंग्लो ज्यादा है इंडियन कम. इनकी मातृभाषा अंग्रेजी है और रीति-रिवाज भी. कहना मुश्किल है कि भारत में अभी एंग्लो-इंडियन समुदाय के कितने लोग हैं क्योंकि 1941 की जनगणना के बाद से भारत में जातीय और सामुदायिक आधार पर जनगणना नहीं की गई है. पर अनुमान है कि इनकी संख्या लगभग सवा लाख है जिनमें से ज्यादातर कोलकाता और चेन्नई में रह रहते हैं.
भारतीय संविधान में अनुच्छेद 366(2) के तहत एंग्लो इंडियन की परिभाषा इस प्रकार की गई है- ''आंग्ल-भारतीय'' से ऐसा व्यक्ति अभिप्रेत है जिसका पिता या पितृ-परंपरा में कोई अन्य पुरुष जनक यूरोपीय उद्भव का है या था, किन्तु जो भारत के राज्य क्षेत्र में अधिवासी है और जो ऐसे राज्य क्षेत्र में ऐसे माता-पिता से जन्मा है या जन्मा था जो वहाँ साधारणतया निवासी रहे हैं और केवल अस्थायी प्रयोजनों के लिए वास नहीं कर रहे हैं . संविधान के अनुच्छेद 331 के तहत एंग्लो इंडियन समुदाय को लोकसभा में विशेष प्रतिनिधित्व दिया जाता है. सोलहवीं लोक सभा में एंग्लो-इंडियन समुदाय के प्रतिनिधि शिक्षक प्रो0 रिचर्ड हे और फिल्मी अभिनेता जॉर्ज बेकर हैं. जॉर्ज बेकर असमिया और बंगाली फिल्मी जगत के विख्यात अभिनेता हैं. मसूरी में रहने वाले लेखक रस्किन बांड, फिल्म अभिनेत्री लारा दत्ता, क्रिकेटर स्टुअर्ट बिन्नी, तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन और क्रिकेटर नासिर हुसेन भी एंग्लो इंडियन हैं.
रेव पार्टी माने क्या?
अंग्रेजी शब्द रेव का मतलब है मौज मस्ती. टु रेव इसकी क्रिया है यानी मस्ती मनाना. पश्चिमी देशों में भी यह शब्द बीसवीं सदी में ही लोकप्रिय हुआ. ब्रिटिश स्लैंग में रेव माने वाइल्ड पार्टी. इसमें डिस्क जॉकी, इलेक्ट्रॉनिक म्यूज़िक का प्राधान्य होता है. अमेरिका में अस्सी के दशक में एसिड हाउस म्यूज़िक का चलन था. रेव पार्टी का शाब्दिक अर्थ हुआ 'मौज मस्ती की पार्टी'. इसमें ड्रग्स, तेज़ पश्चिमी संगीत, नाचना, शोर-गुल और सेक्स का कॉकटेल होता है. भारत में ये मुम्बई, दिल्ली से शुरू हुईं. अब छोटे शहरों तक पहुँच गई हैं, लेकिन नशे के घालमेल ने रेव पार्टी का उसूल बदल दिया है. पहले यह खुले में होती थीं अब छिपकर होने लगी हैं.
महामहिम और महामना में अंतर
शब्दकोश के अनुसार महामना (सं.) [वि.] बहुत उच्च और उदार मन वाला; उदारचित्त; बड़े दिलवाला. [सं-पु.] एक सम्मान सूचक संबोधन. और महामहिम (सं.) [वि.] 1. जिसकी महिमा बहुत अधिक हो; बहुत बड़ी महिमा वाला; महामहिमायुक्त 2. अति महत्व शाली. [सं-पु.] एक सम्मान सूचक संबोधन. आधुनिक अर्थ में हम राजद्वारीय सम्मान से जुड़े व्यक्तियों को महामहिम कहने लगे हैं. मसलन राष्ट्रपति और राज्यपालों को. इस शब्द से सामंती गंध आती है और शायद इसीलिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अपने पदनाम से पहले 'महामहिम ' जोड़ना पसंद नहीं है. महामना शब्द के साथ सरकारी पद नहीं जुड़ा है. इसका सबसे अच्छा इस्तेमाल महामना मदन मोहन मालवीय के लिए होते देखा गया है.
वर्च्युअल करेंसी किसे कहते हैं?
वर्च्युअल करेंसी का मतलब है आभासी. यानी जो वास्तविक होने का आभास दे. कागजी नोट भी आभासी मुद्रा है. चूंकि सरकार ने जिम्मेदारी ली है, इसलिए कागज पर जिस राशि का भुगतान करने का आश्वासन होता है वह वास्तविक धन होता है. क्रेडिट कार्डों, शॉपिग सेंटरों और एयरलाइंस के लॉयल्टी पॉइंट्स का आप इस्तेमाल करते हैं. यह भी एक प्रकार से मुद्रा है. इसमें बिटकॉइंस का नाम और जुड़ गया है. यह भविष्य की आभासी मुद्रा है. बिटकॉइन एक ऑनलाइन करेंसी और भुगतान-प्रणाली है, जो धन का अंतरराष्ट्रीय संचरण संभव बनाती है. दुनिया भर में हजारों व्यापारी इस क्रिप्टो करेंसी को स्वीकार करते हैं. सुरक्षा की गारंटी देने के लिए क्रिप्टोग्राफी या कूटभाषा का प्रयोग करने के कारण ऐसा कहा जाता है. बिटकॉइन को एक नए प्रकार की करेंसी के रूप में देखा जा रहा है.
राष्ट्रीय गणित दिवस
भारत में  राष्ट्रीय गणित दिवस महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की याद में मनाया जाता है. तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने रामानुजन की 125वीं वर्षगांठ के मौके पर 26 दिसंबर 2011 आयोजित एक कार्यक्रम में वर्ष 2012 को राष्ट्रीय गणित वर्ष घोषित किया. साथ ही उनके जन्मदिन 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस भी घोषित किया. उनका जन्म 22 दिसम्बर 1887 को मद्रास से 400 किलोमीटर दूर इरोड नगर में हुआ था.
Rx (आरएक्स) का निशान डॉक्टर क्यों बनाते हैं?
दरअसल यह निशान Rx (आरएक्स) नहीं होता बल्कि R की अंतिम रेखा को आगे बढ़ाते हुए उसपर क्रॉस लगाकर बनता है. माना जाता है कि यह लैटिन शब्द रेसिपी का निशान है. नुस्खा यानी डॉक्टरी हिदायत. इलाज के लिए इस तरह लें. कुछ लोग इसे यूनानी जुपिटर का चिह्न जियस मानते हैं.
दुनिया की सबसे लंबी रेल सुरंग
विश्व की सबसे लंबी रेल सुरंग 1 जून, 2016 को स्विट्ज़रलैंड के ईस्टफील्ड से बोडियो तक शुरू हुई गोटहार्ड रेल सुरंग है. इस लाइन पर पूरी सेवाएं 11 दिसंबर 2016 से शुरू हुईं. स्विट्ज़रलैंड के आल्प्स पहाड़ों के नीचे बनी सुरंग से उत्तरी तथा दक्षिणी यूरोप को रेलवे लाइन से जोड़ा जा सकेगा. इस सुरंग से जर्मनी और इटली के बीच की दूरी कम हो गई है. यह सफर 3.40 घंटे था, जो अब 2.40 घंटे का हो गया है.
प्रभात खबर अवसर में प्रकाशित

No comments:

Post a Comment