Monday, November 7, 2016

डिसरप्टिव टेक्नोलॉजी किसे कहते हैं?

अंग्रेजी के डिसरप्टिव शब्द के हिन्दी में ज्यादातर अर्थ नकारात्मक हैं। मसलन बाधाकारी, हानिकारक, विध्वंसकारी वगैरह। जैसे सृजन के लिए संहार जरूरी है वैसे ही आधुनिक तकनीक के संदर्भ में इसके माने सकारात्मक है। इनोवेशन वह है जो नयापन लाने के लिए पुराने को खत्म करता है। जैसे सीएफएल ने परम्परागत बल्ब के चलन को खत्म किया और अब एलईडी सीएफएल को खत्म कर रहा है। इस शब्द का सबसे पहले इस्तेमाल लेखक क्लेटन एम क्रिस्टेनसेन ने 1995 में किया जो इस वक्त हारवर्ड बिजनेस स्कूल में प्राध्यापक हैं. सारे इनोवेशन डिसरप्टिव नहीं होते। मसलन बीसवीं सदी के शुरू में कार का आविष्कार क्रांतिकारी तो था, पर उसने घोड़ागाड़ी के परम्परागत परिवहन को तत्काल खत्म नहीं किया, क्योंकि मोटरगाड़ी महंगी थी। सन 1908 में फोर्ड के सस्ते मॉडल टी के आगमन के बाद ही घोड़ागाड़ी खत्म होने की प्रक्रिया शुरू हुई जो तकरीबन तीस साल तक चली। इसके मुकाबले मोबाइल फोन ने परम्परागत फोन को जल्दी खत्म किया।

अंपायर तथा रैफरी में क्या अंतर है?
यह केवल खेल की शब्दावली का मामला है। इसका कोई सीधा कारण नहीं है। कुछ खेलों में जज भी होते हैं। खेल के विकास के साथ जो शब्द इस्तेमाल में आया वह चलता चला गया। मूलतः निर्णायक यह दो स्पर्धियों के बीच तटस्थ भाव से निर्णय तक पहुँचने में मददगार व्यक्ति रैफरी या अंपायर होते हैं। एक धारणा है कि हॉकी और फुटबॉल जैसे कॉण्टैक्ट गेम्स में रैफरी और क्रिकेट या बेसबॉल जैसे नॉन कॉण्टैक्ट गेम्स में, जिनमें खिलाड़ी एक-दूसरे से सीधे नहीं भिड़ते अंपायर होते हैं। पर यह बात भी पूरी तरह किसी एक खेल पर लागू नहीं होती। लॉन टेनिस में कुर्सी पर बैठने वाले अंपायर और लाइन पर खड़े रैफरी होते हैं। अमेरिकन फुटबॉल, जो हमारे देश में खेली जाने वाली फुटबॉल से अलग होती है रैफरी के साथ-साथ अंपायर भी होते हैं। इसी तरह क्रिकेट में जब अम्पायरों के अलावा एक और निर्णायक की जरूरत हुई तो उसे मैच रेफरी कहा गया। यह अंतर काम के आधार पर है और हरेक खेल के साथ बदलता रहता है।

पूर्वोत्तर के सात राज्यों के समूह को ‘सेवन सिस्टर्स स्टेट्स’ नाम क्यों दिया गया है?
इन राज्यों की भौगोलिक स्थिति इन्हें एक प्रकार की एकता प्रदान करती है। ऐसा नहीं कि इनके बीच जातीय और धार्मिक एकरूपता है। अनेकता के बावजूद उत्तर पूर्व के इन राज्यों में सांस्कृतिक, आर्थिक और भौगोलिक एकता है। इसलिए इन्हें पूर्वोत्तर की सात-बहनें या 'सेवन-सिस्टर्स' कहा जाता है। इन सातों राज्यों का कुल क्षेत्रफल 2,55, 511 वर्ग किलोमीटर है, जो देश के कुल भूभाग का तकरीबन सात फीसदी है। सन 1947 में देश की स्वतंत्रता के समय इस इलाके में तीन राज्य ही थे। सबसे बड़ा राज्य असम था। इसके बाद मणिपुर और त्रिपुरा दो रजवाड़े थे। राज्यों के पुनर्गठन के कारण असम में से तीन और राज्यों का गठन हुआ। यह गठन भाषाई और जातीय आधार पर था। सन 1963 में नगालैंड बना, सन 1972 में मेघालय पूर्ण राज्य और उसी साल मिजोरम केन्द्र शासित क्षेत्र बना। साथ ही मणिपुर और त्रिपुरा पूर्ण राज्य बने, जो पहले केन्द्र शासित क्षेत्र थे। सन 1987 में अरुणाचल के साथ मिजोरम को भी पूर्ण राज्य का दर्जा मिल गया। इस प्रकार ये सात राज्य हैं। ये राज्य सांस्कृतिक रूप से परस्पर जुड़े हुए हैं। इस कारण पत्रकारीय व्यवहार में इन्हें सात बहनें कहा जाने लगा।

टाइम के साथ ओ’ क्लॉक क्यों?
ओ माने ऑफ़. यदि 9 बजे हैं तो अंग्रेज़ी में कहेंगे 9 ऑफ़ द क्लॉक या संक्षेप में 9 ओ’ क्लॉक।

राजस्थान पत्रिका के नॉलेज कॉर्नर में प्रकाशित

No comments:

Post a Comment