Saturday, August 3, 2013

गैस मेंटल किस धागे का बना होता है और यह चमकता क्यों है?


गैस मेंटल किस धागे का बना होता है और यह चमकता क्यों है?

मनोज कुमार आर्य, बानसूर (अलवर)
गैस मेंटल सामान्य रेयन या सिल्क के कपड़े से बनता है। इसे मेटल नाइट्रेट से परिष्कृत किया जाता है। इसमें मेटल ऑक्साइट की जाली बन जाती है। जब इसे गर्म किया जाता है तो मेटल ऑक्साइड चमकने लगता है। थोरियम डाईऑक्साइड इसका मुख्य तत्व है। जब गर्म लपट इससे चकराटी है तो यह चमकने लगता है। एक जमाने में यूरोप की सड़कों पर इससे ही रोशनी की जाती थी। हमारे देश में भी इसका काफी इस्तेमाल होता रहा। आज भी जंगलों में या दूर कैम्पों में इसका इस्तेमाल होता है। 

इतिहास में बीसी, सीएडी और एडी का मतलब क्या होता है?
चंदन कुमार, आसनसोल (पश्चिम बंगाल)
आज हम जिस कैलेंडर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं वह है ग्रेगोरियन कैलेंडर।इसे पश्चिमी या ईसाई कैलेंडर भी कह सकते हैं। यह कैलेंडर नाज़रथ में ईसा मसीह के जन्म के समय को आधार मानकर चलता है। इसमें ईसा के जन्म के पहले के समय को बीसी यानी अंग्रेजी में बिफोर क्राइस्ट कहते हैं। ईसा के जन्म के बाद के समय को एनो डोमनी या एडी कहते हैं। एनो डोमिनी मध्य युगीन लैटिन शब्द है जिसका अर्थ होता है प्रभु के दौर में (इन द इयर ऑफ अवर लॉर्ड)। अंग्रेजी में बीसी शब्द वर्ष के बाद लगाए जाते हैं। जैसे 440 बीसी। एडी शब्द सन के पहले लगाए जाते हैं एडी 1947। पर अब एडी भी सन के बाद तगाने का चलन बढ़ता जा रहा है। सीएडी का इस्तेमाल आपने किस रूप में देखा, यह बताएं तो जवाब देने में आसानी होगी।

नार्वे को अर्धरात्रि का सूर्य वाला देश क्यों कहते हैं?
कुस चंडकपाली मारवाड़


नॉर्वे उत्तरी ध्रुव के काफी करीब है। इस इलाके में गर्मियों में रात के बारह बजे के बाद तक सूरज चमकता है। रातें कुछ घंटे की होती हैं, उस दौरान भी सूरज क्षितिज के करीब होता है इसलिए रातें अंधियारी नहीं होतीं। इसलिए इसे अर्धरात्रि के सूर्य वाला देश कहते हैं।

सरकारी तनख्वाह में 10000-300-40000 का क्या मतलब है?
दीपक खंडेलवाल, ईमेल से
आपने जो वेतनमान लिखा है उसके अनुसार 10 हजार से 40  हजार के बीच 300 रुपए सालाना की वेतन वृद्धि होनी चाहिए। हालांकि यह सम्भव नहीं है। 300 रुपए की वेतन वृद्धि से 100 साल में वेतन 40 हजार रुपए हो पाएगा। बहरहाल यदि सालाना वेतनवृद्धि 3000 रुपए मान लें तो दस साल में वेतन 40 हजार रुपए हो जाएगा।

राजस्थान पत्रिका के मी नेक्स्ट सप्लीमेंट के नॉलेज कॉर्नर में 30  सितम्बर 2012 को प्रकाशित  

No comments:

Post a Comment