Saturday, May 28, 2016

पुदुच्चेरी के शहर एक-दूसरे से जुड़े क्यों नहीं हैं?

हाल में पाँच विधान सभाओं के चुनाव हुए, जिनमें पुदुच्चेरी भी है. क्या आपने पुदुच्चेरी का नक्शा देखा है? पुदुच्चेरीजिसे पहले पॉन्डिचेरी कहते थेअपने किस्म का निराला क्षेत्र है जिसके चारों जिले एक-दूसरे से जुड़े नहीं हैं. ये जिले हैं पुदुच्चेरी और कराइकल जो तमिलनाडु से घिरे हैंयनम आन्ध्र प्रदेश में और माहे केरल में है. पुदुच्चेरी और कराइकल इनमें सबसे बड़े जिले हैं. पुदुच्चेरी फ्रांसीसी उपनिवेश था जिसमें चार जिले होते थे. सबसे बड़े जिले के नाम पर इसका नाम पुदुच्चेरी पड़ा. यह क्षेत्र लगभग 300 साल तक फ्रांसीसी अधिकार में रहा. आज भी यहाँ के कुछ निवासियों को फ्रांस की नागरिकता प्राप्त है.

तमिलतेलुगुमलयालमऔर फ्रांसीसी यहाँ की आधिकारिक भाषाएँ है. प्रत्येक जिले के साथ-साथ हर भाषा की स्थिति भिन्न है. विभिन्न जिलों के बीच संवाद स्थापित करने के लिए आमतौर पर अंग्रेज़ी का उपयोग किया जाता है. चूंकि इनकी सांस्कृतिक स्थिति एक सी है इसलिए इनका एक केन्द्र शासित क्षेत्र बनाया गया. देखें साथ का नक्शा

देश के पूर्व में है, पर नाम पश्चिम बंगाल क्यों?

आज हम जिसे पश्चिम बंगाल कहते हैं वह समूचे बंगाल का एक हिस्सा है. सन 1757 की प्लासी लड़ाई में ईस्ट इंडिया कम्पनी की जीत से अंग्रेजी शासन को बुनियादी आधार मिला. अंग्रेजी शासन ने शुरू में कोलकाता को अपनी राजधानी बनाया. बीसवीं सदी के प्रारम्भ में वायसराय लॉर्ड कर्जन ने प्रशासनिक कारणों से बंगाल को दो हिस्सों में बाँटने का फैसला किया. इसके पीछे जो भी कारण रहा हो, पर यह स्पष्ट था कि मुस्लिम बहुल क्षेत्र पूर्वी बंगाल बना और हिन्दू बहुल क्षेत्र पश्चिमी बंगाल. 16 अक्टूबर 1905 को बंगाल का विभाजन हुआ. 1947 में देश के विभाजन के बाद भी बंगाल विभाजित रहा. पूर्वी बंगाल, पूर्वी पाकिस्तान बना और पश्चिमी बंगाल भारत में रहा. वह नाम अबतक चला आ रहा है. यह नियम पंजाब पर लागू नहीं हुआ, जबकि पूर्वी पंजाब भारत में है और पश्चिमी पंजाब पाकिस्तान में.     

जीएसएम, जीपीआरएस और सीडीएमए

जीएसएम यानी ग्लोबल सिस्टम फॉर मोबाइल. यह मोबाइल टेलीफोनी की सबसे ज्यादा प्रचलित पद्धति है. जीएसएम एसोसिएशन दुनियाभर में इस तकनीक का इस्तेमाल करने वाले संगठनों की संस्था है. इनका दुनियाभर में नेटवर्क जिससे अधिकतर देशों में इसकी रोमिंग सुविधा उपलब्ध है. जीपीआरएस यानी जनरल पैकेट रेडियो सर्विस एक प्रकार की डेटा सर्विस है जैसे फिक्स्ड लाइन पर ब्रॉडबैंड होती है. सीडीएमए कोड डिवीज़न मल्टीपल एक्सेस भी जीएसएम की मोबाइल टेलीफोनी की एक पद्धति है, जिसे चैनल एक्सस मैथड कहते हैं. आमतौर पर सीडीएमए 2000 को सीडीएमए कहते हैं.

वेस्टइंडीज कोई देश नहीं है
टी-20 विश्व कप प्रतियोगिता में जीत के बाद कई लोगों के मन में यह सवाल आया कि क्या वेस्टइंडीज कोई देश है? उत्तरी अटलांटिक महासागर के कैरीबियन बेसिन से जुड़े इलाके के अनेक द्वीपों को वेस्टइंडीज कहते हैं. इस इलाके के अलग-अलग द्वीप सत्रहवीं से उन्नीसवीं सदी तक ब्रिटिश, डेनिश, नीदरलैंड्स और स्पेनिश उपनिवेश रहे. सन 1958 से 1962 के बीच युनाइटेड किंगडम ने एक स्वतंत्र देश के रूप में वेस्टइंडीज संघ भी बनाया, पर 1963 में यह संघ भंग हो गया और नौ स्वतंत्र देश और चार ब्रिटिश ओवरसीज टेरीटरी बन गईं. वेस्टइंडीज़ संघ भंग होने के बाद स्वतंत्र हुए देश इस प्रकार थे: बारबेडस-1966, ग्रेनेडा-1974, डोमिनिका-1978, सेंट लूसिया-1979, सेंट विनसेंट और ग्रेनेडाइंस-1979, एंटीगुआ और बारबुडा-1981, सेंट किट्स और नेविस-1983.

चूंकि वेस्टइंडीज एक नहीं अनेक देशों की टीम है इसलिए वह अपना अलग ध्वज इस्तेमाल करती है, जिसमें एक द्वीप में क्रिकेट स्टम्प और ताड़ का एक पेड़ बना है. यह अनेक देशों की टीम है इसलिए किसी एक देश के राष्ट्रगान के बजाय इसके लिए एक विशेष गीत लिखा गया है, जिसकी शुरूआती पंक्तियाँ हैं रैली राउंड द वेस्टइंडीज. इसे डेविड रडर ने लिखा है.

2 comments:

  1. बहुत अच्छी-अच्छी जानकारी प्रस्तुति के लिए आभार!

    ReplyDelete
  2. आपकी ब्लॉग पोस्ट को आज की ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति विश्व तंबाकू निषेध दिवस और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। सादर ... अभिनन्दन।।

    ReplyDelete