Sunday, June 18, 2017

जीएसटी और जीएसटी कौंसिल क्या है?

जीएसटी का पूरा नाम गुड्स एंड सर्विस टैक्स  है. यह केंद्र और राज्यों द्वारा लगाए गए 20 से अधिक अप्रत्यक्ष करों के एवज में लगाया जा रहा है. जीएसटी 1 जुलाई 2019 से पूरे देश में लागू किया जाना है. इसे लगाने के बाद सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी, सर्विस टैक्स, एडीशनल कस्टम ड्यूटी (सीवीडी), स्पेशल एडीशनल ड्यूटी ऑफ कस्टम (एसएडी), वैट/सेल्स टैक्स, सेंट्रल सेल्स टैक्स, मनोरंजन टैक्स, ऑक्ट्रॉय एंड एंट्री टैक्स, परचेज टैक्स, लक्ज़री टैक्स खत्म हो जाएंगे. वस्तुओं एवं सेवाओं पर केवल तीन तरह के टैक्स वसूले जाएंगे. पहला सीजीएसटी, यानी सेंट्रल जीएसटी, जो केंद्र सरकार वसूलेगी. दूसरा एसजीएसटी, यानी स्टेट जीएसटी, जो राज्य सरकार अपने यहां होने वाले कारोबार पर वसूलेगी. तीसरा होगा वह जो कोई कारोबार अगर दो राज्यों के बीच होगा तो उस पर आईजीएसटी, यानी इंटीग्रेटेड जीएसटी वसूला जाएगा. इसे केंद्र सरकार वसूल करेगी और उसे दोनों राज्यों में समान अनुपात में बांट दिया जाएगा.

जीएसटी लागू करने के लिए पिछले साल संसद ने 122वें संविधान संशोधन विधेयक को पास किया था. इसके अंतर्गत महत्वपूर्ण नीति निर्णय जीएसटी कौंसिल करेगी. इसके केंद्र सरकार के अलावा सभी राज्यों के वित्तमंत्री प्रतिनिधि इसमें शामिल हैं. इसकी अध्यक्षता केंद्रीय वित्तमंत्री करते हैं और इसके उपाध्यक्ष किसी राज्य के वित्तमंत्री होते हैं. जीएसटी कौंसिल में सभी फैसले तीन चौथाई सदस्यों की स्वीकृति से होते हैं. सभी राज्यों के कुल वोट जीएसटी के दो तिहाई वोट के बराबर है.

नोबेल पुरस्कार पाने वाली पहली महिला?

पहली महिला नोबेल पुरस्कार विजेता मेरी क्यूरी थी, जिन्होंने 1903 में भौतिकी के लिए नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया. उनके साथ उनके पति पियरे क्यूरी को भी यह पुरस्कार दिया गया. यही नहीं सन 1911 में मैरी क्यूरी को रसायन शास्त्र का नोबेल मिला. इस प्रकार वे दो नोबेल पुरस्कार पाने वाली पहली महिला भी बनीं. सन 1935 में मैरी क्यूरी की बेटी आयरीन जोलियो क्यूरी को रसायन शास्त्र का नोबेल पुरस्कार दिया गया. इस प्रकार वे पहली माँ और बेटी बनीं, जिन्हें यह पुरस्कार मिला. मेरी क्युरी (प्रारंभिक नाम मारिया स्कोलोडोवस्का) (7 नवंबर 1867- 4 जुलाई 1934) विख्यात भौतिकविद और रसायन शास्त्री थीं. मेरी ने रेडियम की खोज की थी.

अक्षय पात्र का मतलब क्या है?

महाभारत मे अक्षय पात्र का जिक्र आता है. पांचों पांडव द्रौपदी के साथ बारह वर्षों के लिए वनवास जाते हैं. जंगल में प्रवास करते हुए सैकडों साधु-संत और धर्मात्मा पुरुष उनके साथ हो जाते हैं. वे छह प्राणी अकेले भोजन कैसे करें, और उन सैकडों हजारों के लिए भोजन कहां से आए? पुरोहित धौम्य के कहने पर  युधिष्ठिर ने सूर्य के नाम का जाप किया. सूर्य प्रसन्न होकर युधिष्ठिर की इच्छा पूछते हैं. युधिष्ठिर ने कहा, इतने लोगों को मैं भोजन कैसे कराऊँ. सूर्यदेव ने एक ताँबे का पात्र देकर कहा- यह बर्तन मैं तुम्हें देता हूं. जब तक द्रौपदी परोसेंगी, तुम्हारे पास फल, फूल, शाक आदि चार प्रकार की भोजन सामग्रियां तब तक अक्षय रहेंगी. कथा के अनुसार द्रौपदी हजारों लोगों को परोस कर ही भोजन ग्रहण करती थीं. वे जब तक वह भोजन ग्रहण नहीं करतीं, पात्र से भोजन समाप्त नहीं होता था.

महात्मा गांधी के बेटे थे या नहीं?

गांधी जी के चार बेटे थे. हरिलाल, मणिलाल, रामदास और देवदास गांधी. एक शिशु का बचपन में निधन हो गया था.

ईफेल टावर का निर्माण किस वजह से किया गया?

फ्रांस के पेरिस शहर में सन 1889 में बनाई गई ईफेल टावर मूलतः 1989 वर्ल्ड फेयर के प्रवेश द्वार के रूप में बनी थी. इसका नाम इंजीनियर गुस्ताव ईफेल के नाम पर है, जिन्होंने इसे डिजाइन किया था.

एंटोमॉलोजी क्या है?

कीट विज्ञान (एंटोमॉलोजी Entomology) प्राणिविज्ञान का एक अंग है जिसके अंतर्गत कीटों अथवा षट्पादों का अध्ययन आता है. षट्पाद (षट्=छह, पाद=पैर) श्रेणी को ही कभी-कभी कीट की संज्ञा देते हैं.

ग्रेट विक्टोरिया रेगिस्तान कहाँ है?

द ग्रेट विक्टोरिया रेगिस्तान ऑस्ट्रेलियन रेगिस्तानों में से एक है. इस रेगिस्तान का क्षेत्रफल 338,000 वर्ग किमी है. इस विशाल रेगिस्तान में रेतीले टीलों की भरमार है, पर इसकी विशेषता है कि यहाँ वनस्पति बहुतायत से होती है. ब्रिटेन ने 1952 में जब एटम बम बनाया तो उसका परीक्षण यहाँ आकर किया.  
प्रभात खबर अवसर में प्रकाशित

No comments:

Post a Comment