Sunday, October 25, 2015

सीबीआई की स्थापना कब और किसने की?

सीबीआई भारत सरकार की प्रमुख जाँच एजेंसी है. यह आपराधिक एवं राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े हुए भिन्न-भिन्न प्रकार के मामलों की जाँच करने के लिये लगाई जाती है. इसके अधिकार एवं कार्य दिल्ली विशेष पुलिस संस्थापन अधिनियम (Delhi Special Police Establishment Act), 1946 से परिभाषित हैं. इसकी शुरुआत भारत सरकार द्वारा 1941 में स्थापित विशेष पुलिस प्रतिष्ठान (एस्टेब्लिशमेंट) से हुई है. उस समय विशेष पुलिस प्रतिष्‍ठान का काम द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारतीय युद्ध और आपूर्ति विभाग में घूसखोरी और भ्रष्टाचार के मामलों की जांच करना था. विशेष पुलिस प्रतिष्‍ठान का अधीक्षण युद्ध विभाग के जिम्मे था. युद्ध समाप्ति के बाद भी, केन्द्र सरकार के कर्मचारियों द्वारा घूसखोरी और भ्रष्टाचार के मामलों की जांच करने हेतु एक केन्द्रीय सरकारी एजेंसी की जरूरत महसूस की गई. इसीलिए 1946 में दिल्ली विशेष पुलिस प्रतिष्‍ठान अधिनियम लागू किया गया. इस अधिनियम के द्वारा विशेष पुलिस प्रतिष्‍ठान का अधीक्षण गृह विभाग को हस्तांतरित हो गया और इसके कामकाज को विस्तार करके भारत सरकार के सभी विभागों को कवर कर लिया गया. विशेष पुलिस प्रतिष्‍ठान का क्षेत्राधिकार सभी संघ राज्य क्षेत्रों तक विस्तृत कर दिया गया और सम्बन्धित राज्‍य सरकार की सहमति से राज्यों तक भी इसका विस्तार किया जा सकता था. दिल्ली विशेष पुलिस प्रतिष्‍ठान को इसका नाम सीबीआई 1 अप्रेल 1963 को मिला. 

क्षेत्रफल के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा द्वीप कौन सा है?

यदि आपका आशय महाद्वीप से नहीं है तब ग्रीनलैंड सबसे बड़ा द्वीप है जिसका क्षेत्रफल 21,30,800 वर्ग किलोमीटर है. इसके बाद न्यूगिनी है जिसका क्षेत्रफल 7,85, 753 वर्ग किलोमीटर है. इसके बाद बोर्नियो और मैडागास्कर द्वीप हैं. सबसे छोटे महाद्वीप ऑस्ट्रेलिया का क्षेत्रफल 76,00,000 वर्ग किलोमीटर है.

दुनिया का सबसे छोटा शहर कौन सा है और उसका क्षेत्रफल क्या है?

वैटिकन सिटी दुनिया का सबसे छोटा देश होने के साथ-साथ सबसे छोटा शहर भी है. क्षेत्रफल .44 वर्ग किलोमीटर. आबादी 1000 से भी कम. इसके अलावा उत्तर पूर्वी क्रोआसिया का हुम (Hum) शहर भी इस श्रेणी में रखा जा सकता है. सन 2001 की जनगणना में इस शहर की आबादी 17 थी. इसे आधिकारिक रूप से शहर की श्रेणी में रखा जाता है.

रेलवे की छोटी और बड़ी लाइन में क्या अंतर है?
भारतीय रेलवे में तीन तरह की पटरियां बिछी हुई हैं, ये हैं- बड़ी लाइन (Broad guage) 1.67 मीटर 5 फुट 6 इंच. छोटी लाइन (Meter guage) 1.00 मीटर 3 फुट सवा तीन इंच, संकरी लाइन (Narrow guage)76.2 सेमी दो फुट 6 इंच. 61 सेमी दो फुट. इनमें से बड़ी लाइन की पटरियों का संजाल भारत के अधिकांश हिस्सों में फैला हुआ है. अधिकतर गा‍ड़ियां इसी पटरी पर चलती हैं. छोटी लाइन की पटरियां अब धीरे-धीरे कम होती जा रही हैं. शिमला, ऊटी, कांगड़ा, माथेरान में नैरो गेज गाड़ियाँ चलतीं हैं.

विश्व में अंग्रेजी बोलने वाले कितने देश हैं? विश्व के कुल कितने प्रतिशत लोग अंग्रेजी बोलते हैं? इस मामले में हिंदी का स्थान कौन सा है?
इंग्लैंड, अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड अंग्रेजी बोलने वाले सबसे प्रमुख देश ये हैं. इनके अलावा दक्षिण एशिया के भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश में काफी अंग्रेजी बोली जाती है. दुनिया में लगभग 100 करोड़ लोग अंग्रेजी बोलते हैं. 115 करोड़ लोग चीनी बोलते हैं. दुनिया की आबादी लगभग सात अरब है. इससे अनुमान लगाया जा सकता है. भारत में हिन्दी बोलने वालों की संख्या 2001 की जनगणना के अनुसार 42 करोड़ से ऊपर थी. 2011 की जनगणना के भाषा से जुड़े आँकड़े अभी जारी नहीं हुए हैं. बहरहाल मोटे तौर पर 60 करोड़ से ज्यादा हिन्दी भाषी हैं. भारत और पाकिस्तान के उर्दू भाषियों को इसमें जोड़ लें तो वैश्विक स्तर पर यह संख्या 100 करोड़ के आसपास पहुँचेगी. भारत के बाहर भी तकरीबन दो करोड़ लोग हिन्दी बोलते हैं.प्रभात खबर अवसर में प्रकाशित

No comments:

Post a Comment