Wednesday, October 24, 2012

अब तक का सबसे लम्बा इनसान


दुनिया में अब तक कोई आदमी कितना लम्बा हुआ है। यदि वह जीवित है तो
उसके बारे में बताएं।
विजय नारंग या नन्हे पहलवान, बाज़ार सीताराम, दिल्ली
हालांकि पुराने ज़माने के रिकॉर्ड तो पास में नहीं हैं, पर गिनीज़ बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अनुसार अब तक का सबसे लम्बे पुरुष अमेरिका के रॉबर्ट बैडलो थे, जिनकी लम्बाई 8 फुट 11 इंच थी। इनका जन्म 1918 में हुआ था और केवल 22 साल की म्रे 1940 में इनका निधन हो गया था।


बॉलीवुड शब्द कब अस्तित्व में आया? इसे किसने शुरू किया?
सत प्रकाश संथोलिया, रोहिणी, दिल्ली
बॉलीवुड में बॉ अक्षर बॉम्बे से लिया गया है, जो एक ज़माने में मुम्बई का नाम होता था। और हॉलीवुड से हॉ हटाकर बॉलीवुड बना लिया गया। यह शब्द सत्तर के दशक से इस्तेमाल हो रहा है, पर इसे लोकप्रियता नब्बे के दशक में मिली जब हमारे देश ने बाहर देखना शुरू किया। तब तक हम हिन्दी सिनेमा का प्रयोग ही करते थे। पिछले साल सलमान खान ने ट्वीट किया था कि मुझे बॉलीवुड शब्द पसंद नहीं। अमिताभ बच्चन भी इसके कायल नहीं। पर यह चल रहा है। यह भी सच है कि कोलकाता के बांग्ला सिनेमा को 1932 के आसपास टॉलीवुड कहना शुरू कर दिया गया था। उसकी वजह थी टॉलीगंज जहाँ ज्यादातर स्टूडियो थे।

हुज़ूर रफी साहब ने किस फिल्म में एक्टिंग की? नाम बताएं।
स्काई, नई दिल्ली
मोहम्मद रफी साहब ने दो फिल्मों में एक्टिंग भी की। पहली फिल्म थी 1945 में बनी लैला मजनू जिसके गीत तेरा जलवा जिसने देखा में उन्होंने अभिनय किया। इसके बाद सन 1947 में बनी फिल्म जुगनू में भी उन्होंने एक्टिंग की।

पहले ग्रामोफोन रिकॉर्ड चकली की तरह घूमते थे। उनमें से आवाज़ कैसे निकलती थी, ज़रा बताएं।
सईद अब्बासी, बुलंदशहर, उप्र
ग्रामोफोन आवाज़ पैदा करने वाला यंत्र हैजो सूई के दोलन या ऑसीलेशन को हवा में संचारित कर ध्वनि उत्पन्न करता है। सूई एक घूमते हुए रिकार्ड में बने घुमावदार खाँचे के संपर्क में होती है। यूनानी भाषा में "ग्रामो" का अर्थ है अक्षर और "फोन" का अर्थ है ध्वनि। इस तकनीक में आवाज़ को रिकॉर्ड करने और फिर उसे सुनने के लिए चकली का इस्तेमाल होता है। सबसे पहले लियन स्काट नाम के फ्रांसीसी सज्जन ने सन् 1857 में एक ऐसे यंत्रफोनाटोग्राफका आविष्कार किया जिसके द्वारा आवाज़ की तरंगों को कागज़ पर रेखाओं के रूप में दर्ज किया जा सकता था। पर आवाज़ को रिकॉर्ड करके दुबारा सुनानो लायक यंत्र बनाया टॉमस अल्वा एडिसन ने सन् 1876 में। एडिसन ने अपने यंत्र को फोनोग्राफ नाम दिया। धीरे-धीरे मोम के बेलन पर आवाज़ को दर्ज किया जाने लगा। ताँबे, निकल और दूसरे धातुओं से रिकॉर्ड बनाए गए। उनमें भी कुछ कमियाँ थीं। इन कमियों में से कुछ को दूरकर एमाइल बर्लिनर ने सन् 1887 में एक यंत्र बनायाजिसे ग्रामोफोन नाम दिया।

आईएमई का फुलफॉर्म क्या है?
कमलेश स्वामी, नन्दग्राम, उत्तर प्रदेश
आपका आशय मोबाइल टेलीफोन के आईएमई से है जिसका फुल फॉर्म है International Magnetospheric Explorer.

सभी महानुभावों को शुभ नमन। कृपया बताएं कि ये हॉर्स पावर की पावर को किसी और जानवर, पक्षी या जीव की तुलना क्यों नहीं की जाती?
कुलदीप मल्होत्रा, ओम विहार, दिल्ली
हॉर्स पावर शक्ति की एक माप है। बिजली के मामले में आमतौर पर 746 वॉट को एक हॉर्स पावर मानते हैं। अठारहवीं सदी में स्कॉटिश इंजीनियर जेम्स वॉट ने स्टीम इंजन की तुलना माल ढोने वाले घोड़े या ड्राफ्ट हॉर्स से की तो यह चलन शुरू हुआ। इसके बाद टर्बाइन और इलेक्ट्रिक मोटर के इंजनों से इसकी तुलना शुरू हो गई। आप समझ गए होंगे कि घोड़े का इस्तेमाल उसकी भार वहन क्षमता के कारण था।
  
प्रियंका चोपड़ा की पहली फिल्म और आने वाली फिल्म का नाम बता दीजिए। 
मनोहर लाल गांधी, चाणक्य चौक, गाज़ियाबाद
प्रियंका चोपड़ा की पहली फिल्म तमिल में थी। सन 2002 में बनी इस फिल्म का नाम था तमिषन। उनकी फहली हिन्दी फिल्म थी 2003 में बनी हीरो। आने वाली फिल्मों में तो एक है दीवाना मैं दीवाना। इसके बाद अगले साल कृष3, ज़ंजीर और मिलन टॉकीज़ आएंगी।


1 comment: