Monday, September 11, 2017

दुनिया में सबसे ज्यादा गर्मी कहां पड़ती है और सबसे ठंडा देश कौन है?

उत्तरी इथोपिया का डल्लोल शहर दुनिया का सबसे गर्म आबाद स्थान माना जाता है। यहाँ 1960 से 1966 के बीच औसत दैनिक तापमान 34.4 डिग्री सैल्शियस दर्ज किया गया। इस दौरान औसत अधिकतम तापमान 41 डिग्री और किसी-कसी दिन 55 डिग्री से ऊपर चला जाता है। अमेरिका की डैथवैली में 1913 में तापमान 56.7 डिग्री दर्ज किया गया।

डेनमार्क के अधीन ग्रीनलैंड प्रायः हर समय बर्फ की चादर से ढका रहता है इसलिए सबसे ठंडा इलाका कह सकते हैं। अलबत्ता कनाडा और रूस दूसरे और तीसरे नम्बर के देश कहे जा सकते हैं जहाँ -5 और -6 डिग्री औसत तापमान होता है। दुनिया की सबसे ठंडी जगह यों तो अंटार्कटिक में रिज ए मानी जाती है। वहाँ का न्यूनतम तापमान -90 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला जाता होगा। यह अनुमान है, क्योंकि इस 15000 मीटर ऊँची पहाड़ी पर मनुष्य के पैर आजतक नहीं पड़े हैं।

अंटार्कटिक में ही रूस के स्टेशन वोस्तोक में -89.2 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया है। रूस के साखा गणराज्य के गाँव ओमायाकोन को दुनिया का सबसे ठंडा आबाद क्षेत्र माना जाता है। आर्कटिक के पास के इस इलाके में जनवरी में तापमान -50 से -65 डिग्री के बीच रहता है। यों 6 फरवरी 1933 को यहाँ का तापमान -69.2 दर्ज किया गया था, जो दुनिया के किसी भी बसे हुए क्षेत्र का न्यूनतम दर्ज तापमान है।

ज्यादातर पंखों में तीन ब्लेड ही क्यों होते हैं ?
चार ब्लेड वाले पंखे भी होते हैं, पर एक दूसरे से 120 अंश की दूरी पर ब्लेड लगाने से हवा का कटान अच्छा होता है और किफायती भी। आप चार या पाँच ब्लेड लगाएंगे तो कीमत बढ़ेगी और बिजली का खर्च भी।

दुनिया की पहली मस्जिद कौन सी है?

दुनिया की पहली मस्जिद मुहम्मद साहब ने बनवाई थी, जो मदीना, मुनव्वराह में मस्जिदे क़ुबा कहलाती है।

रावण के पिता का नाम क्या था?

विश्रवा। विश्रवा महान ऋषि पुलस्त्य के पुत्र थे। उनकी माता का नाम हविर्भुवा था। विश्रवा अपने पिता के समान वेदों के विद्वान थे।

भगवत गीता क्या है?

महाभारत के छठे खंड का हिस्सा है भगवत गीता। सम्भवतः इस ग्रंथ की रचना महाभारत से अलग की गई थी, पर कालांतर में यह उसका अंग बन गई। इसकी रचना शायद ईसा की पहली या दूसरी सदी में हुई। इस पर कई टीकाएं और व्याख्यात्मक पुस्तकें लिखी गईं, जो गीता जितनी महत्वपूर्ण हो गईं। पहली टीका आदि शंकराचार्य ने लिखी थी। उनके अलावा भास्कर, रामानुज, मध्व, नीलकंठ, श्रीधर, और मधुसूदन की प्राचीन टीकाएं उपलब्ध हैं। इसे गीतोपनिषद भी कहा जाता है। गीता के कुछ महत्वपूर्ण भाष्य इस प्रकार हैं गीताभाष्य - आदि शंकराचार्य, ज्ञानेश्वरी- संत ज्ञानेश्वर ने संस्कृत से गीता का मराठी में अनुवाद किया, श्रीमद् भगवद् गीता यथारूप-प्रभुपाद, गीतारहस्य – बाल गंगाधर तिलक, अनासक्ति योग-महात्मा गांधी, गीताई - विनोबा भावे।
राजस्थान पत्रिका  के नॉलेज कॉर्नर में 14 मई 2017 को प्रकाशित

No comments:

Post a Comment