Thursday, September 21, 2017

कुछ देशों में ट्रैफिक बाईं ओर और कुछ में दाईं ओर, ऐसा क्यों?

माना जाता है कि मोटर गाड़ियों के आविष्कार के पहले ब्रिटेन में सड़कों पर चलने वाली घोड़ागाड़ियों के कोचवानों को सड़क के बाईं तरफ चलना बेहतर लगता था. इससे उनके हाथ का कोड़ा सड़क के किनारे की झाड़ी से उलझता नहीं था. यह भी कहा जाता है कि बादशाह के अंगरक्षकों की तलवारें दाएं हाथ में होती थीं, इसलिए वे सड़क के किनारे की झाड़ियों से न टकराएं इस वजह से इस व्यवस्था को अपनाया गया. बहरहाल यह ब्रिटिश परंपरा उन देशों में कायम रही, जो अंग्रेजी राज का हिस्सा रहे. भारत सहित करीब 50 ऐसे देश हैं.

दूसरी ओर कहा जाता है कि नेपोलियन की सेना सड़क के दाईं तरफ चलती थी. उसने चूंकि तकरीबन पूरे यूरोप के जीत लिया था, इसलिए उसके हुक्म से ज्यादातर देशों में सड़क के दाईं तरफ ट्रैफिक चलने लगा. यूरोप में स्वीडन ऐसा देश था, जहाँ काफी देर तक ट्रैफिक सड़क के बाईं तरफ चलता था, पर 3 सितंबर 1967 से स्वीडन ने भी दाईं तरफ के ट्रैफिक को मंजूर कर लिया. इसके लिए करीब 600 ट्रैफिक लाइटों और 3,60,000 रोड साइनों को बदला गया.

हिन्दी दिवस मनाने की शुरुआत कब हुई?


भारतीय संविधान के भाग 17 के अनुच्छेद 343(1) में कहा गया है कि संघ की राज भाषा हिन्दी और लिपि देवनागरी होगी. राजभाषा से जुड़े प्रस्ताव को संविधान सभा ने 14 सितम्बर 1949 को स्वीकार किया था. इसी निर्णय को प्रतिपादित करने और हिन्दी को हर क्षेत्र में बढ़ावा देने के इरादे से राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर सन 1954 से संपूर्ण भारत में 14 सितम्बर को हिन्दी दिवस मनाने की परम्परा शुरू हुई. 10-11नवम्बर 1953 को काका साहब न. वि. गाडगिल की अध्यक्षता में नागपुर में हुए 'अखिल भारतीय राष्ट्रभाषा प्रचार सम्‍मेलन' के पांचवें अधिवेशन में इस आशय का औपचारिक प्रस्ताव पारित हुआ. इस प्रकार 14 सितम्बर 1954 को 'हिन्दी दिवस' मनाने का सिलसिला प्रारम्भ हुआ.

फल और सब्जी में अंतर क्या होता है?

यदि आपसे पूछा जाए कि आम फल है या सब्जी, तो आप आसानी से जवाब दे देंगे कि फल है. और पूछें कि लौकी के बारे में पूछें तो बता देंगे कि सब्जी. पर टमाटर, कद्दू या पके कटहल को लेकर संदेह होता है. वनस्पति विज्ञान के लिहाज से तीनों फल हैं. बल्कि इस सूची में काफी चीजें ऐसी हैं, जिन्हें हम सब्जी मानते हैं, वे फल हैं. 

सामान्यतः खाद्य वनस्पति जिसमें बीज होते हैं फल है और जिसमें बीज नहीं होते सब्जी है. इस परिभाषा से तमाम फलियाँ, मटर और खीरा तक फल हैं. वनस्पति विज्ञान के अनुसार बादाम, अखरोट, मूँगफली यानी नट भी फल हैं. अनाज भी, क्योंकि सब बीज हैं.

सवाल है कि तब सब्जी क्या है? पौधे में फल के अलावा जो कुछ खाद्य है वह सब्जी है. मसलन जड़ जैसे गाजर, मूली, पत्ते जैसे पालक, मेथी तना जैसे अदरक, फूल जैसे फूलगोभी और कंद जैसे आलू. तब फिर हम बहुत से फलों को सब्जी क्यों कहते हैं? यह परंपराओं की वजह से है. हमने स्वाद के आधार पर फल तय किए हैं. कटहल (जैकफ्रूट) की सब्जी भी बनती है और उसे पके फल की तरह भी खाते हैं. केले और पपीते का इस्तेमाल भी सब्जी की तरह होता है.

दुनिया का सबसे बड़ा स्कूल?

लखनऊ के सिटी मांटेसरी स्कूल को दुनिया का सबसे बड़ा स्कूल माना जाता है. गिनीज़ बुक ने सन 2013 में इसे रिकॉर्ड के रूप में दर्ज किया है. सन 2010-11 के शैक्षिक सत्र में इस स्कूल में 59,000 छात्र थे और 1050 क्लासरूम. इसके कर्मचारियों की संख्या थी 3800. 
प्रभात खबर अवसर में प्रकाशित

1 comment:

  1. आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन पुण्यतिथि : मंसूर अली खान पटौदी और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

    ReplyDelete